Thu. Jul 25th, 2024

फ़िशिंग एक प्रकार का सामाजिक इंजीनियरिंग हमला है जिसमें अपराधी उपयोगकर्ताओं को धोखा देने के लिए ईमेल, वेबसाइट या संदेश का उपयोग करते हैं ताकि वे अपने व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर या अन्य संवेदनशील जानकारी साझा करें.

फ़िशिंग हमले आमतौर पर ईमेल के माध्यम से किए जाते हैं. हमलावर एक ईमेल भेजते हैं जो किसी विश्वसनीय संगठन से प्रतीत होता है, जैसे कि बैंक, वित्तीय संस्थान या ई-कॉमर्स वेबसाइट. ईमेल में आमतौर पर एक लिंक होता है जो उपयोगकर्ता को एक फ़िशिंग वेबसाइट पर ले जाता है. यह वेबसाइट वास्तविक वेबसाइट की तरह दिखती है, लेकिन यह वास्तव में एक नकली वेबसाइट है जिसे उपयोगकर्ता की व्यक्तिगत जानकारी चुराने के लिए बनाया गया है.

जब उपयोगकर्ता फ़िशिंग वेबसाइट पर जाता है, तो उसे अपने व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर या अन्य संवेदनशील जानकारी दर्ज करने के लिए कहा जाता है. उपयोगकर्ता जब अपनी जानकारी दर्ज करता है, तो यह हमलावर के पास भेज दी जाती है. हमलावर इस जानकारी का उपयोग उपयोगकर्ता के खाते को हैक करने या अन्य अवैध गतिविधियों के लिए कर सकता है.

फ़िशिंग हमलों से बचने के लिए, आपको निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए:

  • अज्ञात स्रोतों से ईमेल न खोलें.
  • ईमेल में किसी भी लिंक पर क्लिक न करें जिस पर आप भरोसा नहीं करते हैं.
  • यदि आप किसी ईमेल में व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करने के लिए कहा जाता है, तो सुनिश्चित करें कि आप वेबसाइट की सुरक्षा की जांच करें.
  • मजबूत पासवर्ड का उपयोग करें और उन्हें नियमित रूप से बदलें.
  • अपने एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर को अद्यतित रखें.
  • अपने सिस्टम को हमेशा नवीनतम सुरक्षा पैच के साथ अपडेट रखें.
  • सावधानीपूर्वक ऑनलाइन ब्राउज़ करें.

यदि आप फ़िशिंग हमले का शिकार हो गए हैं, तो तुरंत अपने खाते को सुरक्षित करें और अपने बैंक या अन्य वित्तीय संस्थान को सूचित करें. आप अपने सिस्टम को भी स्कैन करने के लिए अपने एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते हैं.

फ़िशिंग हमले एक गंभीर समस्या है, लेकिन आप कुछ सावधानियों बरतने से खुद को इन हमलों से बचा सकते हैं.

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *